भारत बन सकता है डीएनए आधारित टीके वाला पहला देश : मंडाविया

siteadmin
Sat, 02 Oct, 2021 09:45 AM IST

स्वस्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि कई भारतीय कंपनियां अपने कोविड-१‘ रोधी टीकों का उत्पादन ब़ढा रही हैं और भारत दुनिया में पहला ऐसा देश भी बन सकता है जिसके पास इस महामारी से बचाव के लिए डीएनए आधारित टीका होगा। मंडाविया ने देश में कोविड-१‘ महामारी का प्रबंधन, टीकाकरण का कार्यान्वयन और संभावित तीसरी लहर को देखते हुए नीति और चुनौतियां विषय पर उच्च सदन में हुई अल्पकालिक चर्चा के जवाब में बताया कि कैडिला हेल्थकेयर लि. के डीएनए आधारित टीके का, तीसरे चरण का क्लीनिकल परीक्षण चल रहा है। उन्होंने कहा इसने आपात स्थिति में उपयोग की मंजूरी हासिल करने के वास्ते भारत के औषधि महानियंत्रक के समक्ष अंतरिम आंकड़े प्रस्तुत किए हैं।

उन्होंने कहा कि अपेक्षित मानक पूरे होने पर जब यह टीका बाजार मे आ जाएगा तब यह देश का पहला डीएनए आधारित टीका होगा और तब भारत भी ऐसा पहला देश होगा जिसके पास कोविड-१‘ महामारी से बचाव के लिए डीएनए आधारित टीका होगा। उन्होंने बताया कि भारतीय कंपनियों को कोविड-१‘ रोधी टीकों का उत्पादन ब़़्ाढाने के लिए प्रौद्योगिकी का हस्तांतरण किया जा रहा है। इसके अलावा नाक से दिए जाने वाले टीके का भी परीक्षण चल रहा है।

×