0.7 C
Munich

नवाचार, गुणवत्ता और विश्वसनीयता का पर्याय फिलिप्स इंडिया

बाजार में फिलिप्स के उत्पादों की भारी माँग है, क्योंकि फिलिप्स ने अपने उत्पादों की गुणवत्ता से कभी समझौता नहीं किया है। यह कंपनी उच्च गुणवत्तापूर्ण उत्पादों के विनिर्माण में ही यकीन करती है।

Must read

किसी भी ब्रांड को बाजार में प्रवेश करने के पहले अपने ग्राहकों से संवाद करना प़डता है। भावनात्मक रिश्ते बनाने प़डते हैं। १२३ साल पुराने ग्लोबल ब्रांड फिलिप्स ने भारतीय बाजार में प्रवेश किया तो यही किया। आज कई ऐसे भारतीय परिवार हैं, जो शायद ही जानते हैं कि फिलिप्स भारतीय कंपनी नहीं है। लेकिन अपने ग्राहकों के साथ पी़ढी-दर-पी़ढी के कालजयी रिश्ते ही सही मायने में फिलिप्स की ब्रांड वैल्यू हैं। १९३० में कोलकाता में एक सेल्स आउटलेट के साथ फिलिप्स ने भारत में प्रवेश किया था। फिलिप्स इंडिया लिमिटेड नीदरलैंड की रॉयल फिलिप्स की एक सहायक कंपनी है, जो लोगों के स्वास्थ्य में सुधार लाने, स्वस्थ जीवनशैली प्रदान करने और रोग के रोकथाम से लेकर निदान, उपचार और घरेलू देखभाल के साथ – साथ स्वास्थ्य निरंतरता को बेहतर बनाने की दिशा में काम करती है। यह कंपनी अपने ग्राहकों को एकीकृत समाधान देने के लिए उन्नत प्रौद्योगिकी, गहन नैदानिक और उपभोक्ता अंतर्दृष्टि का शानदार उपयोग कर डायग्नोस्टिक इमेजिंग, इमेज-गाइडेड थेरेपी, रोगी निगरानी और स्वास्थ्य सूचना विज्ञान के साथ-साथ उपभोक्ता स्वास्थ्य तथा घरेलू देखभाल के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभाती है। डिवाइस, सिस्टम, सॉपटवेयर, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और उन्नत एनालिटिक्स को एक साथ लाकर, कंपनी अपने ग्राहकों को आधुनिक तकनीक से निर्मित गुणवत्तापूर्ण उत्पाद मुहैया कराती है जो दुनिया भर के उपभोक्ताओं की जीवनशैली को स्वस्थ और शानदार बनाने में मदद करती है। फिलिप्स अस्पतालों और अस्पताल समूहों के साथ दीर्घ रणनीतिक साझेदारी में भी प्रवेश करती है, जिसका उद्देश्य नए व्यापार मॉडल, एकमुश्त लेनदेन और निरंतर संबंधों के आधार पर अस्पतालों को एक समग्र समाधान प्रदान करना होता है। यह साझेदारी अस्पतालों के नैदानिक, परिचालकीय और व्यावसायिक आवश्यकताओं को पूरा करती है।

फिलिप्स इंडिया द्वारा लोगों के स्वास्थ्य में सुधार और रोग के रोकथाम, निदान और उपचार के माध्यम से स्वास्थ्य प्रणाली को सक्षम बनाने के लिए काम किया जा रहा है।

फिलिप्स द्वारा साउंड एंड विजन, पर्सनल केयर, मदर एंड चाइल्ड केयर, घरेलू उत्पाद, लाइटिंग, स्वास्थ्य और मोटर वाहन से सम्बंधित सैकड़ों उत्पादों का विनिर्माण किया जाता है। बाजार में फिलिप्स के उत्पादों की भारी माँग है क्योंकि फिलिप्स ने अपने उत्पादों की गुणवत्ता से कभी समझौता नहीं किया है। यह कंपनी उच्च गुणवत्तापूर्ण उत्पादों के विनिर्माण में ही यकीन करती है। भारत के बाजारों में फिलिप्स के ब्रांडों को लोग अटूट विश्वास और गुणवत्ता की नजर से देखते हैं। बात चाहे फिलिप्स के रेडियो की हो या टीवी और मॉनिटर की हो, कभी भी फिलिप्स के उत्पादों की माँग में कोई कमी नहीं देखी गई।

फिलिप्स इंडिया लिमिटेड व्यवसाय करने के साथ – साथ सामाजिक जिम्मेदारी को भी बखूबी निभाती है। वर्ष २०१९ में फिलिप्स ने निमोनिया के बारे में जागरूकता ब़ढाने के लिए एक सीएसआर अभियान ‘हर सांस में जिंदगी” की शुरुआत की। इस अभियान का उद्देश्य बच्चों के माता-पिता और परिवार तक पहुँचना और निमोनिया की गंभीरता पर उन्हें संवेदनशील बनाना है। निमोनिया ५ वर्ष की आयु तक के बच्चों में फैलने वाले प्रमुख संक्रामक रोगों में से एक है, जो शिशुओं की मÀत्यु का एक प्रमुख कारण भी है। निमोनिया की बीमारी और उससे होने वाली मÀत्यु, दोनों ही मामलों में विश्व स्तर पर भारत में सबसे अधिक मामले पाये जाते हैं। हर साल ३० मिलियन नए मामलों के साथ लगभग १.५ लाख बच्चे निमोनिया के कारण अपनी जान गंवाते हैं। निमोनिया भारत में होने वाली सभी मÀत्यु में लगभग छठे स्थान पर है जिसमें अधिकतर मामले पांच साल से कम उम्र के बच्चों के होते है। इस बीमारी के कारण हर चार मिनट में एक बच्चा अपनी जान गवां देता है। फिलिप्स इंडिया द्वारा लोगों के स्वास्थ्य में सुधार और रोग के रोकथाम, निदान और उपचार के माध्यम से स्वास्थ्य प्रणाली को सक्षम बनाने के लिए काम किया जा रहा है। फिलिप्स इंडिया का इस अभियान ने न केवल लोगों को इस बीमारी के बारे में जागरूक करने का काम किया है बल्कि बच्चों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में भी महत्वपूर्ण सहयोग सुनिश्चित किया है।

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img

नवीनतम लेख