कर्मठता ही जिनकी पहचान है

Must read

अंग्शु मलिक की मेहनत और कार्य के प्रति उनकी समर्पित भावना के कारण ही फॉच्र्यून ने आज तक अपनी नेतृत्व स्थिति को बनाए रखा है।

मलिक १९९९ में अदानी विल्मर की स्थापना काल से ही इसका हिस्सा रहे हैं और एक उप महाप्रबंधक के पद से आगे ब़ढते हुए संगठन के प्रमुख की अपनी वर्तमान भूमिका तक पहुँचे हैं। उन्होंने फॉच्र्यून के लॉन्च के केवल २० महीनों के भीतर उसे भारत के नंबर एक खाद्य तेल ब्रांड के रूप में उभरने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उनकी सूक्ष्म अंतर्दृष्टि ने यह सुनिश्चित किया है कि फॉच्र्यून ने आज तक अपनी शीर्ष स्थिति को बरकरार रखने में सफल है। अदानी विल्मर में शामिल होने से पहले, श्री मलिक राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड (एनडीडीबी), धारा के संचालन प्रमुख रह चुके हैं। इससे पहले उन्होंने गुजरात को-ऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन (अमूल), आनंद के साथ विक्रय, विपणन, वितरण और निर्यात में काम किया है। श्री मलिक ने राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान, करनाल से डेयरी प्रौद्योगिकी में स्नातक और ग्रामीण प्रबंधन संस्थान आनंद (घ्Rशं) से ग्रामीण प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा किया है। अंग्शु मलिक अदानी समूह से दीर्घकाल से जु़डे हुए कर्मठ और दूरदर्शी व्यक्तित्व हैं। मलिक की समर्पित सेवाएं निश्चित रूप से अदानी विल्मर की प्रगति में सहायक हैं।

नवीनतम लेख