कुशल व्यावसायिक नेतृत्व के परिचायक अमित कल्याणी

अमित की सीएसआर परियोजनाओं और परोपकार में विशेष रुचि है। वह समाज को वापस देने में दृढत़ा से विश्वास करते हैं। अमित कल्याणी पिछले एक दशक से कल्याणी समूह की रणनीति को मूर्त रूप देने और इसके विविधीकरण के क्रियान्वयन में शामिल रहे हैं। आप कंपनी के वित्त एवं विलय तथा अधिग्रहण सम्बन्धी मामलों की जिम्मेदारी निभाते हैं।

Must read

कुशल एवं कर्मठ नेतृत्व द्वारा किसी भी सामूहिक प्रयास को सफ़ल बनाया जा सकता है। ठीक यही बात व्यवसाय और उद्योग पर भी लागू होती है। कोई भी उद्यम उन्नति की ओर तभी अग्रसर होता है जब उसका प्रमुख अपने कुशल एवं सुयोग्य नेतृत्व के माध्यम से अपनी व्यावसायिक कार्यप्रणाली को मूर्त रूप देता है। इसी तरह भारत फोर्ज लिमिटेड के उप प्रबंध निदेशक अमित कल्याणी ने भी अपने कर्मठ एवं कुशल नेतृत्व के माध्यम से कम्पनी को व्यावसायिक बुलंदियों पर पहुँचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। अमित का जन्म १९७५ में हुआ। अकादमिक अनुभव को देखें तो अमित कल्याणी बकनेल विश्वविद्यालय, पेनसिल्वेनिया से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बीई की डिग्री रखते हैं और हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से स्नातक भी हैं। विनिर्माण और प्रौद्योगिकी को लेकर अमित बेहद संवेदनशील हैं और नियमित रूप से वह विश्व आर्थिक मंच, दावोस में भाग लेते हैं।

अमित व्यावसायिक रूप से अत्यंत कुशाग्र और शानदार लीडरशिप के लिए जाने जाते हैं। दूरदर्शी सोच, रचनात्मक क्षमता और प्रबंधन कौशल – ये सभी अमित कल्याणी के कुशल नेतृत्व के विभिन्न पहलू हैं। पिता बाबा कल्याणी के पदचिन्हों पर चलते हुए अमित ने बिजनेस की बारीकियां सीखी और कम्पनी की छोटी से लेकर बड़ी गतिविधियों में हिस्सा लेते हुए समृद्ध अनुभव हासिल किया। आज अमित कल्याणी देश के उन युवा उद्योगपतियों में से एक हैं जिन्होंने कर्मठता के साथ अपने औद्योगिक लक्ष्यों को प्राप्त किया है।

कल्याणी ग्रुप स्पेशलिटी स्टील, हाई-टेक मेटलर्जिकल मैन्युफैक्चरिंग,

ऑटोमोटिव कंपोनेंट्‌स और इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ-साथ स्पेशियलिटी केमिकल्स के क्षेत्रों में काम करता है। भारत फोर्ज लिमिटेड का राजस्व १.४ बिलियन डॉलर है, जिसकी दस विनिर्माण क्षेत्र में अंतरमहाद्वीपीय उपस्थिति है। अमित भारत फोर्ज के व्यवसाय की तीसरी पीढ़ी के सदस्य हैं।

अमित कल्याणी पिछले एक दशक से कल्याणी समूह की रणनीति को मूर्त रूप देने और इसके विविधीकरण के क्रियान्वयन में शामिल रहे हैं। आप कंपनी के वित्त एवं विलय तथा अधिग्रहण सम्बन्धी मामलों की जिम्मेदारी निभाते हैं। उनका मुख्य ध्यान अब प्रतिभा को पोषित करने और संगठन के भीतर नए कौशल विकसित करने, रणनीति बनाने और नए क्षेत्रों और उत्पादों में विकास को बढ़ावा देने पर है। अमित कल्याणी भारत फोर्ज लिमिटेड और कल्याणी स्टील्स लिमिटेड जैसी विभिन्न समूह कंपनियों के बोर्ड में सदस्य हैं और बीएफ इन्वेस्टमेंट लिमिटेड और कल्याणी इन्वेस्टमेंट कंपनी लिमिटेड की बोर्ड बैठकों की अध्यक्षता भी करते हैं। वह विनिर्माण, शिक्षा, कौशल विकास और द्विपक्षीय संबंधों पर भारत सरकार की कई समितियों का हिस्सा रहे हैं।

अमित कैपजेमिनी, भारत के सलाहकार बोर्ड में भी हैं और शेफलर इंडिया लिमिटेड के बोर्ड में एक स्वतंत्र निदेशक के रूप में कार्य करते हैं। अमित की सीएसआर परियोजनाओं और परोपकार में विशेष रुचि है। वह समाज को वापस देने में दृढत़ा से विश्वास करते हैं और शिक्षा और स्वास्थ्य देखभाल से संबंधित परियोजनाओं में अपने व्यक्तिगत समय और संसाधनों का उपयोग करते हैं। ये विशेष रूप से युवाओं को मार्गदर्शन और सलाह देने के लिए उनके साथ समय बिताना पसंद करते हैं। यह इन्हें ऊर्जान्वित करता है।

अमित और उनकी पत्नी दीक्षा ने कल्याणी स्कूल की स्थापना की है। यह एक गैर लाभकारी संस्थान है जो उच्च गुणवत्तायुक्त है और आधुनिक शिक्षा प्रदान करता है। बाबा कल्याणी के लिए पुत्र की कारोबारी प्रगति निःसंदेह उत्साहवर्धक होगी, जो ७३ वर्ष की उम्र में भी कंपनी की व्यावसायिक गतिविधियों में निरंतर सक्रिय हैं। बाबा कल्याणी के यशस्वी सुपुत्र अमित एक पारिवारिक व्यक्ति हैं जो अपने तीन बच्चों, पत्नी और माता-पिता के साथ समय बिताना पसंद करते हैं।

नवीनतम लेख